गर्मियों में पोल्ट्री फार्म में मुर्गे, मुर्गियों और चूजों की समस्याएँ और बीमारियाँ

गर्मियों में पोल्ट्री फार्म में मुर्गे, मुर्गियों और चूजों में कई समस्याएँ और बीमारियाँ आ सकती हैं। उच्च तापमान और आर्द्रता के कारण ये समस्याएँ अधिक गंभीर हो सकती हैं। यहाँ कुछ प्रमुख समस्याएँ और बीमारियाँ दी गई हैं जो गर्मियों में पोल्ट्री फार्म में आमतौर पर देखी जाती हैं:

समस्याएँ

  1. गर्मी का तनाव (Heat Stress):
    • लक्षण: हाँफना, पंख फैलाना, भूख और पानी की कमी, अंडा उत्पादन में कमी।
    • प्रबंधन: ठंडे पानी की आपूर्ति, वेंटिलेशन में सुधार, पोल्ट्री हाउस में कूलिंग पैड्स या मिस्टिंग सिस्टम का उपयोग।
  2. पानी की कमी (Dehydration):
    • लक्षण: चूजों और मुर्गियों में कमजोरी, भूख की कमी, उत्पादन में कमी।
    • प्रबंधन: पर्याप्त और ठंडे पानी की निरंतर आपूर्ति।
  3. पोषण की कमी (Nutritional Deficiency):
    • लक्षण: वजन में कमी, अंडा उत्पादन में कमी, रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी।
    • प्रबंधन: संतुलित आहार और आवश्यक विटामिन और खनिजों की आपूर्ति।
  4. वेंटिलेशन की कमी:
    • लक्षण: पोल्ट्री हाउस में उमस और गर्मी बढ़ना, मुर्गियों का तनावग्रस्त होना।
    • प्रबंधन: पोल्ट्री हाउस में उचित वेंटिलेशन व्यवस्था।

बीमारियाँ

  1. न्यूकैसल रोग (Newcastle Disease):
    • लक्षण: सांस लेने में कठिनाई, खांसी, छींक, और हरे रंग की दस्त।
    • प्रबंधन: टीकाकरण और बायो-सिक्योरिटी उपाय।
  2. एवियन फ्लू (Avian Influenza):
    • लक्षण: सांस लेने में कठिनाई, भूख की कमी, अंडा उत्पादन में कमी, और उच्च मृत्यु दर।
    • प्रबंधन: तुरंत रिपोर्टिंग, संक्रमित पक्षियों का अलगाव, और उचित टीकाकरण।
  3. कॉक्सीडायोसिस (Coccidiosis):
    • लक्षण: दस्त, खून की मिलावट, भूख की कमी, वजन में कमी।
    • प्रबंधन: एंटी-कॉक्सीडियल दवाओं का उपयोग और पोल्ट्री हाउस की नियमित सफाई।
  4. एस्परगिलोसिस (Aspergillosis):
    • लक्षण: सांस लेने में कठिनाई, खांसी, और भूख की कमी।
    • प्रबंधन: पोल्ट्री हाउस की सफाई और हवादार व्यवस्था, प्रभावित पक्षियों का इलाज।
  5. हीट स्ट्रोक (Heat Stroke):
    • लक्षण: अचानक मृत्यु, पंख फैलाना, और जमीन पर लेट जाना।
    • प्रबंधन: ठंडे पानी का छिड़काव, ठंडे पानी की आपूर्ति, और वेंटिलेशन।

रोकथाम और प्रबंधन के उपाय

  1. पोल्ट्री हाउस का सही डिज़ाइन: अच्छा वेंटिलेशन और ठंडक बनाए रखने के लिए डिज़ाइन करें।
  2. ठंडे पानी की निरंतर आपूर्ति: सुनिश्चित करें कि सभी पक्षियों को ठंडा और ताजा पानी मिले।
  3. संतुलित आहार: विटामिन्स और इलेक्ट्रोलाइट्स के साथ संतुलित आहार प्रदान करें।
  4. टीकाकरण और दवाएं: नियमित टीकाकरण कार्यक्रम का पालन करें और आवश्यक दवाओं का उपयोग करें।
  5. पोल्ट्री हाउस की सफाई: नियमित सफाई और कीटाणुशोधन करें।
  6. छांव और शेड: पोल्ट्री हाउस के ऊपर छांव की व्यवस्था करें और अंदर प्राकृतिक छांव बनाने के लिए पेड़ लगाएं।
  7. बीमारियों की निगरानी: नियमित रूप से पक्षियों की स्वास्थ्य जांच करें और किसी भी लक्षण की त्वरित पहचान और उपचार करें।

इन उपायों का पालन करके, आप गर्मियों में पोल्ट्री फार्म में होने वाली समस्याओं और बीमारियों को काफी हद तक नियंत्रित कर सकते हैं और मुर्गियों का उत्पादन बनाए रख सकते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *